Disco King Bappi Lahiri Passed Away : नहीं रहे बप्पी लाहिड़ी, 69 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा।

Bappi Lahiri Passed Away : मशहूर गायक और संगीतकार बप्पी लहरी के निधन से पूरा देश सदमे में है। 69 वर्षीय बप्पी दा ने आज मुंबई के एक अस्पताल में अपनी आखिरी सांसे ली। बप्पी दा पिछले 1 साल से बीमार चल रहे थे। बप्पी दा पिछले 1 साल से OSA (Obstructive sleep apnea) से जूझ रहे थे और पिछले 1 साल से उनका इलाज चल रहा था और इसी बीमारी के चलते आज उनका स्वर्गवास हो गया।।

OSA की बीमारी के चलते बप्पी दा पिछले 29 दिनों से हॉस्पिटल में एडमिट थे। लेकिन कल 15 फरवरी को ठीक स्वास्थ्य होने के कारण उनको हॉस्पिटल से छुट्टी मिल गई थी। इस गंभीर बीमारी से बप्पी दा पिछले 1 साल से जूझ रहे थे जिसके चलते उन्हें बार-बार हॉस्पिटल के चक्कर लगाने पड़ते थे। बप्पी दा को कल जुहू स्थित क्रिटीकेयर हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किया गया था।

Disco King Bappi Lahiri Passed Away : नहीं रहे बप्पी लाहिड़ी, 69 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा।

हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने के एक दिन बाद ही बप्पी दा की तबीयत फिर बिगड़ गई। और उन्हें फिर से जुहू स्थिति क्रिटी केयर हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां उन्होंने रात करीब 11:45 बजे अपनी आखिरी सांस ली। बप्पी लहरी ने 69 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया।

डिस्को किंग कहा जाता था बप्पी लहिरी को।

बप्पी दा की जिंदगी काफी उतार-चढ़ाव से भरी थी। उन्होंने अपने फिल्मी कैरियर संगीतकार की शुरुआत बंगाली फिल्म दादू(1972) से की थी। हिंदी फिल्मों में अपने संगीत करियर की शुरुआत बप्पी दा ने सन 1973 में आई फिल्म "नन्हा शिकारी" से की थी। 70 - 80 के दशक में बप्पी दा ने एक से बढ़कर एक आईकॉनिक गाने दिए। जिनमें "आई एम ए डिस्को डांसर" और "जिम्मी जिम्मी" जैसे गाने आज भी लोगों की जुबान पर रहते हैं। बप्पी दा को लोग डिस्को किंग के नाम से भी जानते हैं।

एक संगीतकार परिवार में जन्मे थे बप्पी दा।

बप्पी लहरी का जन्म 27 नवंबर 1952 को पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में हुआ था। बप्पी दा का असली नाम अलोकेश लाहिड़ी है। बप्पी दा के पिता का अपरेश लाहिड़ी और मां का नाम बन्सारी लाहिड़ी है। बप्पी दा के परिवार में शुरू से ही संगीत का माहौल था क्योंकि उनके माता-पिता भी संगीतकार थे। बप्पी लाहिरी को शुरू से ही बंगाली क्लासिकल म्यूजिक से लगाया था। बप्पी दा ने महज 3 वर्ष की उम्र में ही तबला बजाना शुरू कर दिया था।

देशभर में शोक की लहर, फैंस और बॉलीवुड सेलेब्स कर रहे याद।

अभी पूरा देश भारत रतन लता मंगेशकर जी के खोने के सदमे से उबर भी नहीं पाया था की बप्पी लाहिड़ी की आकस्मिक निधन से पूरे देश में शोक की लहर फैल गई है। सोशल मीडिया पर बप्पी दा के फैंस और बॉलीवुड सेलेब्स उनको भावभीनी श्रद्धांजलि दे रहे हैं। उनके फैंस को तो अभी तक यकीन नहीं हो रहा कि बप्पी दा अब दुनिया में नहीं रहे।

अक्षय कुमार ने बप्पी दा को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा है :-

"आज हमने संगीत उद्योग से एक और रत्न खो दिया... बप्पी दा, आपकी आवाज मेरे सहित लाखों लोगों को नाचने का कारण थी। आपने अपने संगीत के माध्यम से जो भी खुशियां लाईं, उसके लिए धन्यवाद। परिवार के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। ओम शांति।"

भारत रत्न और क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने भी बप्पी दा को श्रद्धांजलि देते हुए अपने सोशल मीडिया पर लिखा है :-

"मैंने वास्तव में बप्पी दा के संगीत का आनंद लिया, विशेष रूप से "याद आ रहा है" - इसे ड्रेसिंग रूम में कई बार सुना। उनकी प्रतिभा की सीमा वास्तव में अद्भुत थी। आप हमेशा हमें याद रहोगे बप्पी दा!"

भारतीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने भी बप्पी लाहिड़ी को श्रद्धांजलि।

बप्पी लहरी जी के निधन पर शोक प्रकट करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने लिखा है :-

"श्री बप्पी लाह‍िड़ी जी का संगीत सर्वांगीण था. विभ‍िन्न भावनाओं को जाह‍िर करने वाला था. कई पीढ़‍ियों के लोग उनके संगीत से खुद को जुड़ा महसूस कर सकते हैं. उनके खुशम‍िजाज स्वभाव सभी को याद रहेगा. उनके निधन से दुखी हूं. उनके पर‍िवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना. ओम शांत‍ि"

अलग था बप्पी दा का अंदाज

म्यूजिक लीजेंड बप्पी लहरी ने विभिन्न भाषाओं में 5000 से अधिक गाने दिए हैं। उनका एक अलग ही अंदाज था। बप्पी लाहिड़ी का अंदाज हमेशा चर्चा का विषय रहा। बप्पी दा को सोने के गहनों से बहुत ही लगाव था। हमेशा उनके गले में सोने की मोटी मोटी चेन ने देखी होंगी। महंगे सोने के गहने पहने वह हमेशा रॉकस्टार लुक में नजर आते थे। जब भी बप्पी लहरी का नाम आए और उनकी शटाइल की चर्चा ना हो ऐसा हो ही नहीं सकता।

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url